महाविद्यालय : परिचय एवं उद्देश्य

चतुर्दिक हरीतिमा से परिपूर्ण प्रकृति के सुरम्य वातावरण में ऐतिहासिक विरासत को समेटे हुए पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय महाविद्यालय, तिलहर, शाहजहाँपुर राष्ट्रीय राजमार्ग 24 पर मुख्यालय से 23 कि०मी० दूरी पर अवस्थित है । जनपद के पिछड़ें ग्रामीण क्षेत्र के छात्र - छात्राओं को उच्च शिक्षा सुलभ कराने हेतु आशा की किरण के रूप में इस महाविद्यालय की स्थापना उ०प्र० सरकार द्वारा 1995 में की गई । अपने निर्माणकाल से ही महाविद्यालय निरन्तर प्रगति के पथ पर अग्रसर रहते हुए छात्र - छात्राओं को उच्च कोटि का शैक्षणिक वातावरण सुलभ कराता रहा है । अपने गरिमामयी इतिहास, राजकीय उच्च शिक्षा संस्थानों की समृद्ध परंपराओं, मानकों एवं नित नवीन उपलब्धियों की असीम संभावनाओं संजोये हुए यह महाविद्यालय आत्मानुशासन, प्रेरणा, स्पृहता, स्वच्छ प्रशासन, नियमित पठन- पठान एवमं शिक्षणेत्तर गतिविधियों के लिए इस क्षेत्र में आदर्श महाविद्यालय के रूप में जाना जाता है । कुशल प्राचार्य एवं विद्वान् प्राध्यापकों तथा परिश्रमी एवं लगनशील कर्मचारियों की अथक लगन से महाविद्यालय में छात्र एवं छात्राओं के व्यक्तित्व निर्माण हेतु स्वस्थ वातावरण निर्मित करने के प्रयास किए जा रहे हैं एवंम उनकी प्रतिभा के चहुँमुखी विकास हेतु उचित अवसर भी प्रदान किए जा रहे है । वर्तमान में इस महाविद्यालय में बी०ए० तथा बी०कॉम० के त्रिवर्षीय पाठ्यक्रम की कक्षाएं संचालित की जा रही हैं ।